कोरोना ने पुरे देश में तबाही मचाई हुई हे , वही कोरोना से ठीक हुवे मरीज़ो की जान म्युकरमाइकोसिस नाम की बीमारी ले रही है। पहले ये माना जा रहा था की ये बीमारी पहले नाक से शुरू होती हे और वो बढ़ते बढ़ते आँखों और दिमाग को संक्रमित करती हे । लेकिन गुजरात के सूरत में एक अजीब किस्सा सामने आया हे। इस केस में युवक जो कोरोना से संक्रमित हुवा था फिर उसने कोरोना को मात दी थी। घर आने 4 दिन बाद ही उसे बदन में खिचाव आने लगा। तब उसे स्थानिक अस्पताल में भर्ती कराया गया। हॉस्पिटल में तबियत में सुधार ना होने के कारण उसे सूरत की SIMS हॉस्पिटल में दाखिल किया गया। वहा युवक की रिपोर्ट में दिमाग में सूजन देखकर डॉक्टर्स सर्जरी करने का निर्णय लिया। वहा के न्यूरोसर्जन ने सफल सर्जरी की उस के बाद युवक की तबियत में सुधार दिखा। लेकिन सर्जरी के ३-४ दिन बाद ही उनकी दिल की क्षमता काम होने लगी, और उनकी दुखद मृत्यु हो गयी। ऑटोप्सी की रिपोर्ट में पता चला की म्युकरमाइकोसिस का संक्रमण सीधा उसके दिमाग में चला गया था।

डॉक्टर ने कहा की कोरोना के बाद म्युकरमाइकोसिस का संक्रमण नाक और आँख से शुरू ना होकर सीधे दिमाग में पहुंच गया ऐसा पहला केस दिखा हे। इस प्रकार के केस से मेडिकल फ्रेटर्निटी स्तब्ध हो गयी हे. क्योकि ऐसा अपने आप में पहला केस हे और ये स्थिति बहुत भयंकर हे क्युकी सीधा दिमाग में संक्रमण पहुंचने के कारण इसका लोगो को पहले पता नहीं चलता और मरीज़ की स्थिति अचानक गंभीर हो जाती है। जिससे रिकवरी की सम्भावना कम हो जाती।